चीन सीमा के पास शुरू होगा एयरपोर्ट, DGCA ने दी मंजूरी, सुरक्षाबलों को भी होगा फायदा

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) द्वारा उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण को एक हवाई अड्डे का लाइसेंस दे दिया गया है।

जून 14, 2023 - 20:17
 0  36
चीन सीमा के पास शुरू होगा एयरपोर्ट, DGCA ने दी मंजूरी, सुरक्षाबलों को भी होगा फायदा

उत्तराखंड का पिथौरागढ़ शहर अब हवाई जहाज के माध्यम से देश के दूसरे हिस्सों से जुड़ेगा। अब नागरिक विमान भी नैनी-सैनी हवाई अड्डे से उड़ान भरेंगे।  नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) द्वारा उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण को एक हवाई अड्डे का लाइसेंस दे दिया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह सुविधा मिलने पर एरोड्रम लाइसेंस जारी करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का आभार व्यक्त किया है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, “यह उत्तराखंड में विशेष रूप से कुमाऊं क्षेत्र में हवाई संपर्क के लिए एक प्रमुख बढ़ावा है। हम पीएम नरेंद्र मोदी और नागरिक उड्डयन मंत्रालय को धन्यवाद देना चाहते हैं।

उत्तराखंड कैबिनेट ने पहले नैनी सैनी हवाई अड्डे को भारतीय वायु सेना को सौंपने की मंजूरी दी थी।  प्रशासनिक उपयोग के लिए 1991 में बने हवाई अड्डे का संचालन राज्य के नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा किया जाता है।

जनवरी 2019 में नैनी सैनी एयरपोर्ट से नौ सीटर कमर्शियल हवाई जहाज सेवा शुरू की गई थी लेकिन तकनीकी खराबी के चलते मार्च 2020 में बंद कर दी गई थी। उत्तराखंड में दो प्रमुख हवाई अड्डे हैं। मुख्य रूप से फिलहाल उत्तराखंड में दो ही एयरपोर्ट हैं, जिसमें पहला देहरादून का जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है, जो गढ़वाल मंडल में आता है. यहां से कई शहरों के लिए उड़ान सेवाएं शुरू की गई हैं. इसके अलावा, दूसरा एयरपोर्ट उधम सिंह नगर में पंतनगर हवाई अड्डा है, जो कुमाऊं क्षेत्र में आता है।

हवाईअड्डे के प्रबंधक अनुराग आर्य ने कहा, हमें हवाईअड्डे से नागरिक उड़ानें चलाने के लिए छह महीने के लिए वैध लाइसेंस मिला है। डीजीसीए की एक टीम ने लाइसेंस जारी करने से पहले वहां की सुविधाओं का सर्वेक्षण करने के लिए पिछले महीने हवाईअड्डे का दौरा किया था।

आपकी प्रतिक्रिया क्या है?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow